Amar Ujala

posted in: Press Coverage | 0

18 Jan 14

जन सुनवाई में बुजुर्गों ने उठाई पेंशन की मांग

नई दिल्ली (ब्यूरो)। पेंशन परिषद की वृद्धावस्था पेंशन पर जन सुनवाई में करीब 18 राज्यों से आए बुजुर्गों ने हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने दो हजार रुपये पेंशन देने की मांग की। मिहिर शाह समिति की सिफारिशों को लागू करने की मांग कर रहे लोगों ने बुजुर्गों के लिए बीपीएल और एपीएल के मानकों को खत्म करने को कहा।

कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में सुनवाई के दौरान कुपवाड़ा (जम्मूू-कश्मीर) से आईं 65 वर्षीय मेहरूनिशा ने कहा, ‘पेंशन हमारा संवैधानिक अधिकार है। हम भीख नहीं बल्कि जीने का अधिकार मांग रहे हैं।’ ललितपुर (यूपी) से आईं छोटी देवी ने पेंशन के कागज तैयार करने के नाम पर ठगी की शिकायत की। उन्होंने विधवा पेंशन स्कीम की आयु 40 साल से घटाकर 18 साल करने की मांग की।

इस दौरान पैनल में योजना आयोग के सदस्य डॉ. मिहिर शाह ने कहा कि उनकी समिति ने मूलभूत सुझाव सरकार को सौंपे थे। उसके लागू होने से काफी हद तक सामाजिक सुरक्षा संभव हो सकती थी।

वहीं, सामाजिक कार्यकर्ता अरुणा राय ने कहा, ‘सरकार पैसा न होने का बहाना बना रही है जबकि धन की कोई कमी नहीं है।’ कार्यक्रम में जेएनयू के प्रोफेसर प्रभात पटनायक, राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण की सदस्य आशा मेनन, गिरीश निकम, वंदना प्रसाद, और वजाहत हबीबुल्लाह आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

You must be logged in to post a comment.